Search
Close this search box.

Fake Fielding: वो कोहली की फेक फील्डिंग थी या नहीं, जानिए आकाश चोपड़ा का जवाब

Fake Fielding: वो कोहली की फेक फील्डिंग थी या नहीं, जानिए आकाश चोपड़ा का जवाब
Fake Fielding: वो कोहली की फेक फील्डिंग थी या नहीं, जानिए आकाश चोपड़ा का जवाब

बुधवार को एडिलेड में टी20 वर्ल्ड कप 2022 के 35वें मैच में भारत ने बांग्लादेश को डकवर्थ लुईस नियम से 5 रनों से हरा दिया। मुकाबला ड्रामे से भरपूर रहा। बारिश के पहले तक जहां मैच बांग्लादेश की गिरफ्त में दिख रहा था, वहीं बारिश के बाद मैच का रुख ही पलट गया। कुछ लोग जहां इस नजदीकी हार का जिम्मेदार गीले मैदान को मान रहे तो वहीं बांग्लादेश के विकेटकीपर नुरुल हसन ने विराट कोहली पर फेक फील्डिंग का आरोप लगाया।

चलिए जानते हैं पूरा माजरा

पूरा वाकया बांग्लादेशी पारी के सातवें ओवर का है, जब अक्षर पटेल की गेंद को लिटन दास ने ऑफ साइड पर खेला और अर्शदीप सिंह ने विकेटकीपर के पास थ्रो किया। थ्रो के रास्ते में पॉइंट पर विराट कोहली भी खड़े थे। गेंद जब कोहली के पास से निकल रही थी तब उन्होंने ऐसा दिखाया जैसे वे दूसरे छोर पर थ्रो कर रहे हैं। मैच के दौरान न तो अंपायर और न ही बल्लेबाज ने किसी तरह का विरोध दिखाया। पर मुकाबले की समाप्ति के बाद नुरुल हसन इस वाकये पर बोलते नजर आए।

क्या कहा नुरुल हसन ने

मैच खत्म होने के बाद बांग्लादेश के विकेटकीपर बल्लेबाज नुरुल हसन ने भारतीय टीम के दिग्गज बल्लेबाज विराट कोहली पर फेक फील्डिंग का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कोहली के इस एक्शन को अंपायर्स ने नजरंदाज कर दिया। वरना उनकी टीम को 5 रन पेनल्टी के रूप में दिए जाते और मैच का नतीजा कुछ और होता।

अब जानते हैं आकाश चोपड़ा का जवाब

विराट कोहली की फेक फील्डिंग वाली घटना पर आकाश चोपड़ा ने कहा कि अगर मैदान पर मौजूद अंपायर को लगा कि आपने किसी को भटकाने या बहकाने की कोशिश की है, फिर चाहे सामने वाले को दिक्कत हुई या नहीं हुई है, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। अगर अंपायर लगता है कि कुछ हुआ तब 5 रन पेनल्टी के मिलते हैं। इतना ही नहीं उस गेंद को डेड बॉल भी माना जाएगा। लेकिन जब इस वाकये को अंपायर ने देखा ही नहीं फिर उसे फेक फील्डिंग नहीं कहा जा सकता।

ताजा कहानियां