Search
Close this search box.

AUS vs ZIM: रायन बर्ल ने पंजा खोल मचाई तबाही, धराशायी किया सचिन-कपिल का बड़ा रिकॉर्ड, इस मामले में बने नंबर 1

AUS vs ZIM: रायन बर्ल ने पंजा खोल मचाई तबाही, धराशायी किया सचिन-कपिल का बड़ा रिकॉर्ड, इस मामले में बने नंबर 1
AUS vs ZIM: रायन बर्ल ने पंजा खोल मचाई तबाही, धराशायी किया सचिन-कपिल का बड़ा रिकॉर्ड, इस मामले में बने नंबर 1

टाउंसविले में तीसरे वनडे में जिम्बाब्वे ने ऑस्ट्रेलिया (AUS vs ZIM 3rd ODI) को 3 विकेट से परास्त कर दिया। भले ही जिम्बाब्वे सीरीज 2-1 से हार गया, लेकिन उन्होंने ऑस्ट्रेलिया को उसी की धरती पर मात देने का कमाल भी कर दिखाया। जिम्बाब्वे की इस ऐतिहासिक जीत के नायक रायन बर्ल (Ryan Burl) रहे, जिन्होंने फाइव हॉल किया। इस घातक गेंदबाजी के दम पर उन्होंने सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और कपिल देव (Kapil Dev) को पछाड़ दिया।

वनडे में रायन बर्ल का पहला पंजा

जिम्बाब्वे के कप्तान रेजिस चकाब्वा से पहले बल्लेबाजी का न्योता पाने के बाद ऑस्ट्रेलिया की पूरी टीम 31.0 ओवर में 141 रनों पर ढेर हो गई। मेजबान टीम की इस खस्ता हालत के पीछे जिम्बाब्वे के लेग स्पिनर रायन बर्ल का सबसे बड़ा हाथ रहा। उन्होंने एक या दो नहीं बल्कि ऑस्ट्रेलिया के 5 खिलाड़ियों को पवेलियन वापस भेजा। उनके शिकारों की इस लिस्ट में डेविड वॉर्नर का नाम भी शामिल है, जो 95 रन पर आउट हुए और महज 5 रन से शतक लगाने से चूक गए।

रायन बर्ल ने केवल 3 ओवर किए और 10 रन खर्च कर 5 विकेट चटका दिए। उनके वनडे करियर का ये पहला पंजा यानि फाइव विकेट हॉल है। इसके पहले उन्होंने 2019 में यूईए के खिलाफ हरारे में 6.2 ओवर में 32 रन पर 4 विकेट का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन किया था।

रायन ने सचिन तेंदुलकर और कपिल देव को पीछे छोड़ा

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे की एक पारी में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों में रायन बर्ल ने महान खिलाड़ियों में शुमार सचिन तेंदुलकर, कपिल देव और रवि शास्त्री को पीछे छोड़ दिया है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शास्त्री ने 5/15, सचिन ने 5/32 और कपिल देव ने 5/43 का शानदार प्रदर्शन किया है। जबकि रायन ने 10 रन पर 5 विकेट झटकते हुए इन सभी के रिकॉर्ड तोड़ दिए।

जिम्बाब्वे के पहले ऐसे गेंदबाज बने रायन बर्ल

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक वनडे पारी में 5 विकेट लेने के मामले में रायन बर्ल जिम्बाब्वे के नंबर 1 गेंदबाज बन गए हैं। उन्होंने तेज गेंदबाज एंड्रू फ्लेचर के 42 रन पर 4 विकेट के रिकॉर्ड तोड़ दिया। फ्लेचर ने 1983 में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध नॉटिंघम में इन आंकड़ों को हासिल किया था। 15 रन के बदले 3 विकेट लेने वाले ग्रांट फ्लॉवर लिस्ट में तीसरे नंबर पर हैं।

ताजा कहानियां