Search
Close this search box.

Asia Cup 2022: टीम इंडिया पर भारी पड़ सकता है रोहित का ये फैसला, एशिया कप से धोना पड़ सकता है हाथ

WhatsApp
Telegram
Facebook
Twitter
Asia Cup 2022: टीम इंडिया पर भारी पड़ सकता है रोहित का ये फैसला, एशिया कप से धोना पड़ सकता है हाथ
Asia Cup 2022: टीम इंडिया पर भारी पड़ सकता है रोहित का ये फैसला, एशिया कप से धोना पड़ सकता है हाथ

रविवार को पाकिस्तान ने टीम इंडिया (IND vs PAK) को एशिया कप 2022 (Asia Cup 2022) की पहली हार थमाई। उन्होंने दुबई के मैदान पर भारत को 5 विकेट से पस्त किया। ये इस सीजन की ही नहीं बल्कि टी20 एशिया कप में भारतीय टीम की पहली शिकस्त थी। इस मैच के पहले तक भारत टी20 फॉर्मेट वाले एशिया कप में बिना किसी हार के लगातार 7 मुकाबले जीत चुका था।

बता दें कि भारतीय टीम ने एशिया कप के 15वें संस्करण की शुरुआत पाकिस्तान के खिलाफ धमाकेदार जीत के साथ की थी। हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) के ऑलराउंड प्रदर्शन और रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) की लाजवाब बल्लेबाजी के दम पर भारत ने उस मुकाबले में 5 विकेट से बाजी मारी थी। इसके बाद रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की सेना ने हांगकांग को मात देकर सुपर-4 में जगह बनाई।

पूरी तरफ से बेअसर रहे हार्दिक पांड्या

राउंड वन के दोनों मुकाबले जीतने के बाद आत्मविश्वास और उत्साह से भरपूर भारतीय टीम पाकिस्तान के खिलाफ रविवार, 4 सितंबर को सुपर-4 मैच में उतरी। पहले की तरह ही टीम इंडिया की जीत की प्रबल दावेदार मानी जा रही थी। लेकिन पाकिस्तान ने जोरदार पलटवार करते हुए भारत को पटखनी दे दी। पहले मैच के जीत के हीरो हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) अपना खाता भी नहीं खोल पाए।

इतना ही नहीं पांड्या भारतीय खेमें में सबसे महंगे गेंदबाज भी साबित हुए। उन्होंने 4 ओवर में 44 रन खर्च कर एक विकेट अपने नाम किया। अन्य शब्दों में कहे तो पाकिस्तान के विरुद्ध हार्दिक बल्ले के साथ-साथ गेंद से भी फ्लॉप रहे।

क्या टीम इंडिया को महंगा पड़ा रोहित का ये फैसला?

पाकिस्तान के खिलाफ ग्रुप मुकाबले में हार्दिक पांड्या ने 4 ओवर में केवल 25 रन देकर 3 विकेट झटके थे। इसके बाद उन्होंने 17 बॉल में 33 रनों की पारी खेल छक्के के साथ मैच फिनिश किया था। इसके बाद हांगकांग के खिलाफ उनको आराम दे दिया गया। लेकिन हार्दिक जब सुपर-4 मैच में दोबारा उसी मैदान पर पाकिस्तान के सामने लौटे तब वे बैटिंग और बोलिंग दोनों डिपार्टमेंट में फेल हो गए।

ऐसे में सवाल उठता है कि क्या हार्दिक को हांगकांग के खिलाफ आराम देने का फैसला सही था? क्या इस आराम को पाकर हार्दिक की लय टूट गई? वैसे भी हार्दिक जिम्बॉब्वे के विरुद्ध तीन मैचों की वनडे सीरीज का हिस्सा नहीं थे। ऐसे में खिलाड़ियों को चोट के डर या अन्य कारणों के चलते जरूरत से ज्यादा रेस्ट देना कहां तक सही है। ये फैसला टीम के पक्ष में जाने के बजाय विपरीत असर कर सकता है।

चूंकि टी20 वर्ल्ड कप अब ज्यादा दूर नहीं है। ऐसे में अब प्रयोग बंद कर फूल स्ट्रेंथ के साथ खेलने का समय आ गया है। अब अगर भारतीय टीम शेष दो में से एक मैच भी हारती है, तब उनका आठवीं बार एशिया कप जीतने के ख्वाब पर पानी फिर सकता है। ऐसे में उम्मीद करते हैं कि हार्दिक पांड्या जल्द ही लय में लौटेंगे और गेंद व बल्ले से मैच विनिंग प्रदर्शन करेंगे।

ताजा कहानियां

होम

T20WC

फॉलो करें

फॉलो करें